Google ने सेव किया आपके स्मार्टफोन में UIDAI का गलत नंबर

Google ने सेव किया आपके स्मार्टफोन में UIDAI का गलत नंबर

Google ने सेव किया आपके स्मार्टफोन में UIDAI का गलत नंबर

अगर आप स्मार्टफ़ोन इस्तेमाल करते हो तो आपके कॉन्टैक्ट लिस्ट में UIDAI के नाम से नंबर सेव होगा लेकिन आपका कहना की अपने ये नंबर सेव नहीं किया और ये नंबर कभी लगता नहीं है जी तो आप बिलकुल सही है दरसल ये नंबर आपके फ़ोन में आपकी OS बनाने वाली कंपनी यानि गूगल ने आपके फ़ोन में सेव किया है जो की फ़र्ज़ी है UIDAI ने बताया कि आपके Android phone की Contact list में पहले से उपलब्‍ध नंबर 1800-300-1947 नंबर गलत है आधार अथॉरिटी UIDAI के अनुसार आधार का अपना नंबर है 1947 जो दो वर्ष से चल रहा है.

गूगल ने जारी किया बयान

इसको लेकर उठ रहे विवाद पर Google ने कहा कि उनके द्वारा ही Android Smartphone बनाने वाली कंपनियों को दिए जाने वाले सेटअप में यह नंबर पहले से ही सेव किया जाता था और नए Smartphone में भी वहीं से यह Transfer हो गया.गूगल ने आगे कहा अगर इसके कारण आपको कोई असुविधा हुई हो तो इसके लिए हमे खेद है हम आपको विश्वाश दिलाते हैं कि ऐसा नहीं है की हम आपके Android Devices
को बिना आपकी अनुमति के आपके फ़ोन को OPERATE कर सके दरसल गूगल ने ऐसा इसलिए कहा क्योकि एक यूजर ने ट्वीट करके कहा की “यह कैसे सम्भव है ये नंबर मेरे फ़ोन में आगया यदि आप ऐसा कर सकते हैं तो आप निश्चित ही मेरी गतिविधियों की निगरानी भी कर सकते हो.”. American company Google ने बताया की यूज़र अपने Device से इस नंबर को डिलीट कर सकते हैं.

Google के अनुसार इस नंबर को वर्ष 2014 में OEM यानी Smartphone बनाने वाली कंपनियों को दिए जाने वाले सेटअप वाले प्रोग्राम में पहले से ही डाला गया था

आपको बता दें की आपका OS यानि आपका मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम ‘Android’ गूगल द्वारा विकसित किया गया है जिसे आपके SMARTPHONE और Tablets में USE किया जाता है. जिसके द्वारा आपके स्मार्टफोन और टेबलेट ऑपरेट होते है

कैसे शुरू हुआ विवाद

दरसल यह मुद्दा Twitter Handle Eliot Anderson @fs0c131y के ट्वीट से उठा. इस अकाउंट ने UIDAI से पूछा कि ऐसा क्यों हो रहा है. इस Twitter handle ने इससे पहले भी Aadhar की गोपनीयता के ऊपर सवाल उठाये है.

फिर लोगो ने जब अपने Smart android phone में ये नंबर देखा और इसके Screen shots शेयर किये एक यूजर ने ट्वीट किया “हां, यह सच है. UIDAI का HelplineNumber मेरे फोन बुक में जादू से आ गया. वे हमारा पीछा कर रहे हैं, जैसे NSA अमेरिका में करता है?”
users ने शक जाहिर किया की ऐसा सरकार के कहने पर हो कंपनी ऐसा नहीं कर रही लेकिन UIDAI के द्वारा जारी स्पष्टीकरण में जाहिर हो गया की उनके द्वारा किसी भी सर्विस प्रोवाइडर कंपनी से ऐसा करने को नहीं कहा

आधार नहीं अब 16 अंको की Virtual id.

Aadhar Card की Security को लेकर उठते अविश्वाश के चलते इसमें कुछ अहम बदलाव किए जा रहे हैं. सरकार के Aadhar कार्यक्रम को चलाने वाली UIDAI यानी भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण के अनुसार अब वे Virtual Aadhar id लाने वाले है, जिसमें 16 अंकों के temporary NUMBER होंगे, जिसे आप अपने मर्ज़ी से बदल सकते है और जब चाहे अपने आधार के स्थान पर इसे साझा कर सकते हैं. उम्मीद है UIDAI की यह योजना मार्च के अंत तक सफल हो जाएगी.

Google saved the wrong number of UIDAI in your smartphone

google explained it

Related posts